उत्तर प्रदेश

जमीनी विवाद में पूर्व जिला पंचायत सदस्य की हत्या के बाद एक ही परिवार के 5 लोगों का बेरहमी से किया गया कत्ल

हमलावरों ने पूरे परिवार को मौत के घाट उतार दिया

लखनऊ 2 अक्टूबर 2023 : त्तर प्रदेश के देवरिया में जमीनी विवाद के चलते पूर्व जिला पंचायत सदस्य की हत्या के बाद एक ही परिवार के 5 लोगों का बेरहमी से क़त्ल कर दिया गया। दूसरे परिवार में पति-पत्नी, दो बेटियों और बेटे का गला निर्ममता से काट दिया गया, उन्हें गोली भी मारी गई और ईंट से सिर कूंच दिए गए। हमलावरों पर इस कदर खून सवार था कि उन्होंने 8 साल के बच्चे तक को नहीं छोड़ा। उस बच्चे पर कई वार किए और उसे मरा समझकर चले गए। लेकिन मासूम बच्चे की सांसें चल रहीं थी, जिसके बाद उसे गंभीर हालत में गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में एडमिट कराया गया है। जिस घर में यह वारदात हुई, वहां नरसंहार जैसा मंज़र दिखाई दिया। हर तरफ खून ही खून और लाशें दिखाई दे रही थीं। घटना सोमवार सुबह रुद्रपुर तहसील के अंतर्गत आने वाले फतेहपुर गांव की है। इस जघन्य हत्याकांड को पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव के क़त्ल के बाद अंजाम दिया गया। यह पूरा मामला दो परिवार प्रेम यादव और सत्य प्रकाश दुबे से संबंधित है। दो जातियों का होने के कारण गांव और आसपास जबरदस्त तनाव फैला हुआ है। विवाद तब शुरू हुआ, जब सोमवार सुबह 6 बजे प्रेम यादव की लाश गली में पड़ी मिली। यादव की हत्या गला काटकर की गई थी। हत्या किसने की, यह किसी को नहीं पता था। किन्तु, यादव परिवार का संदेह सत्य प्रकाश दुबे पर गया, क्योंकि प्रेम यादव और सत्य प्रकाश दुबे के बीच भूमि लेकर विवाद चल रहा था। प्रेम यादव सुबह इसी विवाद के कारण सत्य प्रकाश के घर गए थे। उसके बाद सत्य प्रकाश दुबे के घर से लगभग 20 मीटर दूर प्रेम यादव का शव पड़ा हुआ मिला। प्रेम यादव का शव मिलने के बाद उनके परिजन-रिश्तेदार भड़क गए। 20-25 की तादाद में यादव कुनबे के लोग हाथ में लाठी-बंदूक और गड़ासा लेकर सत्य प्रकाश के घर जा पहुंचे। चश्मदीदों के मुताबिक, आगबबूला भीड़ को आता देखकर सत्य प्रकाश ने घर का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। लेकिन, बदले की आग में जल रहे यादव के परिजन दरवाजा तोड़कर सत्य प्रकाश के घर में घुस गए। इसके बाद जो सामने आता गया, उस पर हमले शुरू कर दिए। हमलावर एक-एक कर दुबे परिवार के लोगों की हत्या करते जा रहे थे। सत्य प्रकाश के घर पर जब हमला हुआ, उस वक्त घर में कुल 6 लोग थे। हमलावरों ने पूरे परिवार को मौत के घाट उतार दिया। महज 8 साल का बच्चा अनमोल जिंदा बचा है, उसे भी काफी घायल कर दिया गया है और वो अस्पताल में भर्ती है और उसकी हालत गंभीर है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button