राष्ट्रीय ख़बरें

तुर्कमेनिस्तान की महिलाओं के लिए जारी फरमान, कार की फ्रंट सीट पर नहीं बैठ सकती महिलाएं, ब्यूटी प्रोडक्ट पर भी लगा बैन

इसे भी पढ़ें –IPL में रहा दमदार प्रदर्शन, अब टीम इंडिया में एंट्री करने की दहलीज पर हैं ये दो घातक गेंदबाज

तुर्केमेनिस्तान में महिलाओं को अब टाइट-फिटिंग कपड़े पहनने की अनुमति नहीं होगी। देश के अधिकारियों ने महिलाओं के ब्यूटी से सबंधित हर एक चीज पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसमें महिलाओं को बालों का कटवाना, ब्लीच करना या नकली नाखूनों या पलकों का इस्तेमाल करना शामिल है। वहीं कॉस्मेटिक सर्जरी से गुजरने वाली महिलाओं पर और प्रतिबंध लगाए गए हैं जिसके तहत अब महिलाएं स्तन वृद्धि, होंठ भरना, और यहां तक ​​कि भौं माइक्रोब्लैडिंग तक नहीं करा सकेंगी। तुर्कमेन पारंपरिक मूल्यों को नुकसान पहुंचाने वाले विदेशी रुझानों को कम करने के लिए ऐसा फैसला सुनाया गया है। नेल एक्सटेंशन, भौं और होंठ टैटू डिजाइन से सबंधित हर एक ब्यूटी फैशन के सामानों पर भी बैन लगा दिया गया है।

कई लोगों ने इस प्रतिबंध की निंदा करते हुए दावा किया है कि इन प्रतिबंधों का उद्देशय तुर्कमेन महिलाओं की सीमित करना है और महिलाओं की स्वतंत्रता को पूरी तरह से खत्म करना है। यह उनके अधिकार का उल्लंघन है। बता दें कि महिलाओं की उपस्थिति को नियंत्रित करने वाले ऐसे नियम उस समय के हैं जब तुर्कमेनिस्तान ने सोवियत संघ से स्वतंत्रता प्राप्त की और अपना राष्ट्र राज्य स्थापित किया था। रिपोर्टों के अनुसार, कॉस्मेटिक सर्जरी करा चुकी अधिकत्तर महिलाओं ने हाल के हफ्तों में अपनी नौकरी और काम करने के सभी अवसरों को खो दिया है। इन महिलाओं को नौकरी से निकाल दिया गया है और भविष्य में यह महिलाएं काम नहीं कर पाएंगी। कई महिलाओं पर 140 डॉलर का जुर्माना लगाया गया है. जो कि तुर्कमेन की सामान्य मासिक आय का लगभग आधा है।

न केवल ब्यूटी प्रोडक्ट बल्कि अब अगर जो महिलाएं परिवार के सदस्य नहीं हैं उन्हें भी नए प्रतिबंध के तहत कार में बिठाना सख्त वर्जित है और इसके लिए पुरुष चालकों के निजी वाहनों के लिए भारी जुर्माना हो सकता है। महिलाओं को भी ड्राइवर के बगल में आगे की सीट पर बैठने की अनुमति नहीं है। 12 मार्च के चुनाव में नए राष्ट्रपति सर्दार बर्डीमुक्खम्मदोव के सत्ता में आने के बाद, जिसमें उन्होंने अपने पिता की जगह ली थी, इस महीने सख्ती से विनियमित मध्य एशियाई देश में अनौपचारिक प्रतिबंध प्रभावी हुए।

कोई घोषणा नहीं?

रिपोर्टों के अनुसार, पूरे क्षेत्र में स्थानीय सरकारों और कानून प्रवर्तन अधिकारियों द्वारा हाल ही में लगाए गए प्रतिबंध के लिए कोई औपचारिक घोषणा या स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है।रिपोर्ट्स के मुताबिक, पहले भी इसी तरह के प्रतिबंध लगाए गए थे, लेकिन उन्हें कभी भी सख्ती से लागू नहीं किया गया। नए प्रतिबंध के मुताबिक अगर महिलाएं जींस या बहुत तंग कपड़ों में नजर आती है तो पुलिस पहले उनकी तस्वीरें लेंगे फिर एक रिपोर्ट तैयार किया जाएगा और उसके बाद महिलाओं पर जुर्माना लगाया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button