उत्तराखंडराज्य

WHO के दावे पर संबित पात्रा बोले- अपुष्ट स्त्रोत से लिया गया आंकड़ा, राहुल पर भी पलटवार

WHO के दावे पर संबित पात्रा बोले- अपुष्ट स्त्रोत से लिया गया आंकड़ा, राहुल पर भी पलटवार

इसे भी पढ़ें – अलकनंदा और भागीरथी की आड़ में धूल झोंक रहे दोनों मुख्यमंत्रीः करण महारा

पिछले दो सालों से पूरी दुनिया में कोरोना महामारी में कोहराम मचा रखा है। भारत में भी इसका असर देखने को मिला। कोरोना महामारी की वजह से लाखों लोगों ने अपनी जान भी गवाई है। शुक्रवार को सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 524002 है। लेकिन भारत सरकार के आधिकारिक आंकड़े पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सवाल खड़े कर दिए हैं। डब्ल्यूएचओ का अनुमान है कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से 47 लाख लोगों की मौत हुई। डब्ल्यूएचओ के इस दावे पर भारत के प्रमुख स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सवाल उठाए है। अब सत्तारूढ़ दल भाजपा की ओर से भी सवाल खड़े किए गए है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने दावा किया कि डब्ल्यूएचओ ने अपुष्ट स्त्रोत से डाटा लिया है।

अपुष्ट स्त्रोत से लिया गया डाटा

पात्रा ने कहा कि पूरी प्रक्रिया में WHO ने जिस प्रकार के तरीकों को अपनाया है, वो गलत है। उन्होंने कहा कि डेटा के स्रोत में एक्यूरेसी होनी चाहिए, जबकि WHO ने माना है कि स्रोत वैरिफाइड नहीं हैं। किन मानदंड के आधार पर भारत को टियर-2 देश में रखा गया है, ये भी सटीक रूप से पता नहीं चलता। भाजपा नेता ने कहा कि काल्पनिक तरीके से डेटा का मंथन करना, भारत को टियर-2 देशों में रखना, इन सब विषयों पर भारत ने समय-समय पर WHO से वार्तालाप किया है। पात्रा ने कहा कि महत्वपूर्ण ऐसे कदम हैं जिसके आधार पर हमें लगता है कि WHO का डेटा गलत है।

राहुल पर पलटवार

कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर बलटवार करते हुए संबित पात्रा ने कहा कि पूरा विश्व मानता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने जिस प्रकार कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ी वो पूरे विश्व के लिए मिसाल थी। पर ऐसे में मृत्यु के आंकड़ों पर राजनीति करना बहुत दुखद है। जबकि विकसित देशों से भी बेहतर तरीके से भारत ने ये युद्ध लड़ा है। अपना हमला जारी रखते हुए उन्होने कहा कि राहुल गांधी लगातार भारत को नीचा दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। समय-समय पर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर आक्रमण करते हुए भारत को नीचा दिखाया है, ये दुखद है। भाजपा शासित राज्यों और गैर-भाजपा शासित राज्यों में मृत्यु का विश्लेषण नहीं करना चाहिए।

राहुल ने मोदी पर निशाना साधा

इस मामले को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि विज्ञान झूठ नहीं बोलता, मोदी बोलते हैं। राहुल ने ट्वीट किया, 47 लाख भारतीय नागरिकों की मौत कोविड-19 महामारी से हुई, जबकि सराकर की ओर से 4.8 लाख लोगों की मौत का दावा किया गया है। विज्ञान झूठ नहीं बोलता, मोदी बोलते हैं। उन्होंने सरकार से आग्रह करते हुए लिखा, अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति संवेदना है। ऐसे हर परिवार को चार लाख रुपये की मदद दी जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button