राष्ट्रीय ख़बरें

रिया चक्रवर्ती ने ही लगाई थी सुशांत सिंह राजपूत को ड्रग्स की लत! NCB ने ड्राफ्ट चार्जशीट में लगाए गंभीर आरोप

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लगभग दो साल से ज्यादा का वक्त हो गया है। सुशांत की मौत के बाद जांच के दौरान यह भी पाया गया था कि उनके शरीर में ड्रग्स की मात्रा भी मिली थी। कथित तौर पर कहा गया कि सुशांत सिंह राजपूत ड्रग्स लेते थे। सुशांत की मौत से 8 दिन पहले उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने सुशांत का घर छोड़ दिया था। उससे पहले रिया चक्रवर्ती सुशांत सिंह राजपूत के साथ ही उनके बांद्रा वाले फ्लेट में रहती थी। सुशांत की मौत के बाद परिवार ने रिया चक्रवर्ती पर गंभीर आरोप लगाए थे। सुशांत के पिता ने कहा था कि रिया से सुशांत को ड्रग्स देती थी। सुशांत को ड्रग्स की आदत रिया ने ही डाली थी। सुशांत के परिवार ने अपनी एफआईआर में साफ तौर पर सुशांत की मौत का जिम्मेदार रिया चक्रवर्ती को माना था। पुलिस ने रिया चक्रव्रती से पूछताछ की थी लेकिन मामला ड्रग्स से जुड़ने के बाद यह केस एनसीबी के पास चला गया। सुशांत मौत मामले में एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती और उनके भाई से पूछताछ की। कुछ समय के लिए रिया को जेल में भी रहना पड़ा। जमानत के बाद से रिया जेल से बाहर हैं। अब रिया चक्रवर्ती को लेकर एनसीबी ने एक बड़ा खुलासा किया है।

रिया चक्रवर्ती पर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के लिए कथित तौर पर प्रतिबंधित पदार्थ खरीदने और उनकी “अत्यधिक नशीली दवाओं की लत” को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है। सुशांत सिंह राजपूत 14 जून, 2020 को अपने आवास पर मृत पाए गए थे। उनकी मौत से जुड़े ड्रग्स मामले की जांच में, एनसीबी ने मामले में 35 आरोपियों के खिलाफ कुल 38 आरोप लगाए हैं।

स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की हत्या से जुड़े नशीले पदार्थों संबंधी मामले में दाखिल अपने मसौदा आरोपों में दावा किया है कि अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने अपने भाई शोविक समेत सह आरोपियों से कई बार गांजा लिया था और उसे राजपूत को दिया गया था। एनसीबी ने विशेष स्वापक औषधि और मन:प्रभावी पदार्थ अधिनियम (एनडीपीएस) अदालत में 35 आरोपियों के खिलाफ पिछले महीने मसौदा आरोप दाखिल किए थे, जिनका विवरण मंगलवार को उपलब्ध कराया गया। मसौदा आरोपों के अनुसार, सभी आरोपियों ने एक दूसरे के साथ मिलकर या समूह में मार्च 2020 और दिसंबर 2020 के बीच आपराधिक षड्यंत्र रचा, ताकि वे ‘‘उच्च समाज और बॉलीवुड’’ में नशीले पदार्थों का वितरण, बिक्री और खरीद कर सकें।

एनसीबी ने कहा कि आरोपियों ने मुंबई महानगर क्षेत्र के भीतर नशीले पदार्थों की तस्करी को वित्तपोषित किया था और गांजा, चरस, कोकीन और अन्य नशीले एवं मन: प्रभावी पदार्थों का इस्तेमाल किया था। मसौदा आरोपों के अनुसार, इसलिए उनके खिलाफ धारा 27 और 27 ए (अवैध तस्करी को वित्तपोषित करना और अपराधियों को शरण देना) 28 (अपराध करने के प्रयासों के लिए सजा), 29 (जो कोई उकसाता है, या आपराधिक षड्यंत्र में शामिल है) समेत एनडीपीएस अधिनियम के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए हैं। इसमें कहा गया है, ‘‘आरोपी संख्या 10 रिया चक्रवर्ती ने आरोपियों सैमुअल मिरांडा, शोविक, दीपेश सावंत और अन्य से गांजा प्राप्त किया तथा उसे दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को सौंपा।’’

अभिनेत्री ने शोविक और दिवंगत अभिनेता के कहने पर मार्च 2020 और सितंबर 2020 के बीच इस खेप के लिए भुगतान किया। मसौदा आरोपों के अनुसार, रिया का भाई शोविक नशीले पदार्थों की तस्करी करने वालों के नियमित संपर्क में था और उसने गांजा एवं चरस के ऑर्डर देने के बाद सह-आरोपियों से इसे प्राप्त किया था। इन पदार्थों को राजपूत को दिया गया था। मसौदा आरोपों को दाखिल करने से आरोप तय करने की जमीन तैयार हो जाती है, जिसके बाद सुनवाई शुरू होती है। बहरहाल, आरोप तय करने से पहले अदालत को पहले आरोपियों की दोषमुक्ति याचिका पर फैसला करना होगा। एनडीपीएस अधिनियम से संबंधित मामलों की सुनवाई करने वाले विशेष न्यायाधीश वी जी रघुवंशी ने मामले की सुनवाई के लिए 27 जुलाई की तारीख तय की है। चक्रवर्ती को इस मामले में सितंबर 2020 में गिरफ्तार किया गया था और एक महीने बाद बंबई उच्च न्यायालय ने उन्हें जमानत दे दी थी। एनसीबी ने 14 जून, 2020 का राजपूत की मौत के बाद फिल्म और टेलीविजन उद्योग में नशीली दवाओं के कथित उपयोग की जांच शुरू की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button