विदेश

मुन्ना भाई स्टाइल में भारतीय मूल की महिला ने 150 अथ्यर्थियों का दिया ड्राइविंग टेस्ट, धोखाधड़ी मामले में हुई सजा

लंदन। भारतीय मूल की 29 वर्षीय एक महिला को ब्रिटेन के विभिन्न हिस्सों में ‘ड्राइविंग टेस्ट’ से जुड़ी धोखाधड़ी के आरोप में आठ महीने की जेल की सजा सुनाई गई। महिला ने इस जांच के लिए 150 अथ्यर्थियों की जगह खुद को पेश किया था। स्वानसी क्राउन अदालत में उसे बृहस्पतिवार को दोषी करार दिया और सजा सुनाई। आरोपी इंद्रजीत कौर ने वर्ष 2018 और 2020 के बीच उम्मीदवारों की ओर से लगभग 150 लिखित और प्रायोगिक जांच में शामिल होने की बात स्वीकार की। उसने स्वानसी, कार्मार्थन, बर्मिंघम और लंदन के आसपास सहित पूरे इंग्लैंड और वेल्स में ये अपराध किए।

साउथ वेल्स पुलिस के डिटेक्टिव चीफ इंस्पेक्टर स्टीवन मैलोनी ने कहा, ‘‘कौर ने जो अपराध किए हैं, वे ड्राइविंग टेस्ट प्रक्रिया को बाधित करते हैं और अकुशल और खतरनाक मोटर चालकों को वैध लाइसेंस देने की अनुमति देकर निर्दोष राहगीरों को जोखिम में डालते हैं।’’ बताया जाता है कि कौर ने प्रत्येक उस अभ्यर्थी से लगभग 800 पाउंड लिए थे, जिनके बदीले में वह जांच में शामिल हुई थीं। मामले की छानबीन में पता चला कि कौर उन आवेदकों की ओर से जांच में शामिल होती थीं, जिन्हें अंग्रेजी में कठिनाई थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button