राष्ट्रीय ख़बरें

जगदीप धनखड़ को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने का नीतीश ने किया स्वागत, समर्थन का भी ऐलान

 

एनडीए की ओर से पश्चिम बंगाल के वर्तमान में राज्यपाल जगदीप धनखड़ को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया गया है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी के संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद इस बात का ऐलान किया। जेपी नड्डा ने कहा कि किसान पुत्र जगदीप धनखड़ राजग के उपराष्ट्रपति पद के प्रत्याशी होंगे। धनखड़ जी, एक साधारण किसान परिवार से आते हैं। उन्होंने सामाजिक और आर्थिक बाधाओं को पार करते हुए अपने जीवन में उच्च लक्ष्य को प्राप्त किया और देश की सेवा करने में उन्होंने कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के रूप में धनखड़ ने लोगों के दिल पर राज करने वाले राज्यपाल के रूप में पहचान बनाई।

जगदीप धनखड़ को उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवार बनाए जाने का बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के वरिष्ठ नेता नीतीश कुमार ने स्वागत किया है। नीतीश कुमार ने इस चुनाव में जगदीप धनखड़ के समर्थन का भी ऐलान कर दिया। अपने ट्वीट में नीतीश कुमार ने लिखा कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल श्री जगदीप धनखड़ जी को एनडीए के उप राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने का स्वागत है। जदयू श्री जगदीप धनखड़ जी का समर्थन करेगा। उन्हें शुभकामनाएं। वहीं, जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह ने ट्वीट कर कहा कि उप राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार के रूप में पश्चिम बंगाल के महामहिम राज्यपाल श्री जगदीप धनखड़ जी के नाम की घोषणा के लिए आदरणीय प्रधानमंत्री जी को हार्दिक बधाई। जनता दल (यूनाइटेड) की तरफ से समर्थन और उनके जीत की अग्रिम बधाई।

आपको बता दें कि नीतीश कुमार की पार्टी जदयू फिलहाल भाजपा की सबसे बड़ी सहयोगी पार्टी है। यही कारण है कि नीतीश कुमार की भूमिका काफी बढ़ जाती है। मौजूदा उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है। देश के उपराष्ट्रपति को चुनने के लिए निर्वाचक मंडल में संसद के दोनों सदनों, लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य शामिल होते हैं। संसद में सदस्यों की मौजूदा संख्या 780 है, जिनमें से केवल भाजपा के 394 सांसद हैं। जीत के लिए 390 से अधिक मतों की आवश्यकता होती है। भाजपा ने राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए आदिवासी नेता द्रौपदी मुर्मू को उम्मीदवार बनाया है। यदि मुर्मू चुनाव जीत जाती हैं, तो वह देश की पहली आदिवासी राष्ट्रपति होंगी। राजग ने 2017 में उपराष्ट्रपति पद के लिए तत्कालीन केंद्रीय मंत्री नायडू को अपना उम्मीदवार बनाया था। भाजपा इस बार भी अपने उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित करने के लिए मजबूत स्थिति में है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button