उत्तराखंड

41 श्रमिकों के सकुशल बाहर निकलने पर मुख्यमंत्री धामी ने इस अभियान में जुटे समस्त बचाव दल को दी शुभकामनाएं

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, हमारे श्रमिक भाइयों का सुरक्षित बाहर आना बेहद खुशी की खबर है

सिलक्यारा ऑपरेशन के सफल ऑपरेशन से हर किसी के चेहरे खिल गए हैं। उत्तराकाशी की सुरंग में फंसे मजदूरों के बार निकालने के लिए जारी रेस्क्यू अभियान को 17 वें दिन सफलता मिली।प्रधानमंत्री मोदी लगातार पूरे मामले का अपडेट ले रहे थे।आज ऑपरेशन की सफलता पर उन्होंने कहा कि सभी श्रमिक बंधुओं के सुरक्षित बाहर निकल आने के समाचार से मुझे अत्यंत आनंद की अनुभूति हुई है। इस अभियान पर पूरे देश की निगाह लगी हुई थी। इसकी सफलता से पूरे देश ने राहत की सांस ली है। यह घड़ी सभी श्रमिक बंधुओं के परिजनों के लिए आनंद की घड़ी है। मैं उनके परिजनों को बधाई देता हूँ।

बेहद कठिन और चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में फंसे इन सभी मज़दूरों को सुरक्षित निकालने में सबसे बड़ा योगदान राहत एवं बचाव कार्य में लगी सभी एजेंसियों जैसे एनडीआरएफ़, एसडीआरएफ़, उत्तराखण्ड पुलिस तथा भारतीय सेना का है। मैं इन सभी का हृदय से अभिनंदन करता हूं।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बचाव अभियान में लगीं टीमों को बधाई दी। कहा- मुझे यह जानकर राहत और खुशी महसूस हो रही है कि उत्तराखंड में एक सुरंग में फंसे सभी श्रमिकों को बचा लिया गया है। बचाव कार्य में बाधाओं का सामना करने के कारण 17 दिनों तक की उनकी पीड़ा मानवीय सहनशक्ति का प्रमाण रही है। मैं उन टीमों और सभी विशेषज्ञों को बधाई देती हूं जिन्होंने इतिहास के सबसे कठिन बचाव अभियानों में से एक को पूरा करने के लिए अविश्वसनीय धैर्य और दृढ़ संकल्प के साथ काम किया है।में फंसे इन सभी मज़दूरों को सुरक्षित निकालने में सबसे बड़ा योगदान राहत एवं बचाव कार्य में लगी सभी एजेंसियों जैसे एनडीआरएफ़, एसडीआरएफ़, उत्तराखण्ड पुलिस तथा भारतीय सेना का है। मैं इन सभी का हृदय से अभिनंदन करता हूं। टनल में फंसे 41 श्रमिकों के सकुशल बाहर निकलने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस अभियान में जुटे समस्त बचाव दल को अपनी शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा की श्रमिकों और उनके परिजनों के चेहरों की खुशी ही मेरे लिए इगास बग्वाल (दिवाली) है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बचाव दल की तत्परता, टेक्नोलॉजी के सहयोग, सुरंग के अंदर फंसे श्रमिक बंधुओं की जीवटता, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की जा रही पल- पल निगरानी और बौखनाग देवता की कृपा से यह अभियान सफल हुआ। मुख्यमंत्री ने जरुरी होने पर श्रमिकों को हर चिकित्सा सुविधा देने के उन्होंने आदेश दिए हैं।

सिल्कयारा सुरंग से 41 श्रमिकों को बचाने के बाद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि वह राहत और खुशी’ महसूस कर रहे हैं क्योंकि सुरंग से फंसे हुए सभी 41 श्रमिकों को बचा लिया गया है। कहा कि यह कई एजेंसियों द्वारा किया गया एक समन्वित प्रयास था, जो हाल के वर्षों में सबसे महत्वपूर्ण बचाव अभियानों में से एक है। कई चुनौतियों का सामना करने के बावजूद विभिन्न विभाग और एजेंसियां एक-दूसरे के पूरक हैं। राहुल गांधी ने भी कहा उत्तरकाशी की सिलक्यारा सुरंग में फंसे श्रमिक भाइयों की सुरक्षित वापसी बहुत ही खुशी का समाचार है। उन्हें और उनके परिवारों को मेरी दिली बधाई। भारत का निर्माण करने वाले हमारे मज़दूर भाइयों की सुरक्षा सर्वोपरि है। इस मुश्किल अभियान को सफल बनाने वाले सभी जांबाज़ों को मेरा सलाम है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, हमारे श्रमिक भाइयों का सुरक्षित बाहर आना बेहद खुशी की खबर है। चुनौतीपूर्ण हालात में सुरंग में इतने लंबे समय तक फंसे रहने पर उनके साहस को देश सलाम करता है। पीएम नरेंद्र मोदी ने उन्हें सकुशल निकालने के लिए संसाधन उपलब्ध करवाने के साथ ही व्यक्तिगत रूप से अभियान पर जिस तरह नजर रखी, वह उनकी संवेदनशीलता को दर्शाता है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा, 140 करोड़ भारतीयों की प्रार्थना और एनडीएमए समेत सभी एजेंसियों की बदौलत ऑपरेशन आखिरकार कामयाब हुआ, आप सभी को बधाई। सरकार से आग्रह है, श्रमिकों को त्वरित स्वास्थ्य लाभ और उचित मुआवजा दे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button