उत्तराखंड

प्रदेश की मातृ शक्ति को और अधिक सशक्त बनाये जाने हेतु मा0 मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई “मुख्यमंत्री सशक्त बहना उत्सव” योजना

मा0 मुख्यमंत्री ने सचिवालय से वर्चुअल माध्यम से सभी जनपदों से जुड़ी महिला स्वयं सहायता समूहों की बहनों से संवाद किया

चम्पावत 24अगस्त में2023 :  राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तत्वाधान में *”मुख्यमंत्री सशक्त बहन उत्सव”* योजना अंतर्गत स्वयं सहायता समूह द्वारा उत्पादित स्थानीय उत्पादों की प्रदर्शनी के संबंध में गुरुवार को माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक संपन्न हुई।

स्थानीय महिलाओं को और अधिक सशक्त बनाए जाने व उनकी आर्थिकी को और अधिक बल दिए जाने हेतु मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाए जा रहे स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने और उन उत्पादों की अच्छी बिक्री हो, इस उद्देश्य से राज्य में *‘मुख्यमंत्री सशक्त बहना उत्सव योजना’* शुरू की गई है। इस योजना के तहत प्रदेश के सभी विकासखण्डों में महिला स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से 24 से 28 अगस्त 2023 तक राखियों के स्टॉल लगाये जा जा रहें हैं।

मा0 मुख्यमंत्री ने सचिवालय से वर्चुअल माध्यम से सभी जनपदों से जुड़ी महिला स्वयं सहायता समूहों की बहनों से संवाद किया। मुख्यमंत्री ने सभी से उनके द्वारा बनाये जा रहे उत्पादों एवं उनकी बिक्री की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि *जो भी स्थानीय उत्पाद बनाये जा रहे हैं, उनमें हमें गुणवत्ता और पैकेजिंग का विशेष ध्यान रखना है।* उन्होंने कहा कि हमारी बहनों ने जब भी कोई संकल्प लिया है, उसे सिद्धि तक पहुंचाया है। ‘मुख्यमंत्री सशक्त बहना उत्सव योजना’ को और बेहतर बनाया जायेगा। जिसमें महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाये जा रहे उत्पादों को बढ़ावा देने के साथ ही उनके लिए अच्छे मार्केट की व्यवस्था भी की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में महिला स्वयं सहयता समूहों द्वारा नये उत्पाद बनाने के लिए अनेक नवाचार किये गये हैं। उनके द्वारा बनाये जा रहे उत्पादों की मांग भी तेजी से बढ़ रही है। इस दौरान मा0 मुख्यमंत्री ने सभी प्रदेशवासियों से अपील भी की है कि त्योहारों एवं विशेष पर्वों पर महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाये गये स्थानीय उत्पादों को जरूर खरीदें। *‘वोकल फॉर लोकल’* से जहां हमारे उत्पादों को बढ़ावा मिलेगा, स्थानीय स्तर लोगों की आजीविका भी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में महिला सशक्तिकरण की दिशा में सराहनीय कार्य हो रहे हैं। संवाद के दौरान *मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा जनपद चंपावत की स्वयं सहायता समूह की राधा और हेमा देवी से बात की* और उनके द्वारा बनाये जा रहे उत्पाद की जानकारी ली गयी और उनके द्वारा बनाये जा रहे उत्पादों विशेष तौर पर उनके द्वारा *निर्मित राखियों की सराहना की*।
संवाद के दौरान महिला स्वयं सहायता समूहों की बहनों ने बताया कि रक्षा बंधन के अवसर पर उनके द्वारा भोजपत्र, ऐपण, वैजयंती माला, पिरूल एवं अन्य स्थानीय उत्पादों पर आधारित राखियां बनाई गई हैं। जिनकी बाजार में मांग भी बहुत है। सभी जनपदों में जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय उत्पादों पर आधारित राखियों की बिक्री के लिए स्टॉल भी लगाये गये हैं।
वर्चुअल के माध्यम से *जिलाधिकारी नवनीत पांडे ने अवगत कराया कि जनपद में विभिन्न क्षेत्रों में महिला समूह द्वारा चीड़ की पत्तियां एवं अन्य सामग्री से राखी निर्मित की जा रही है। महिला समूह द्वारा निर्मित उत्पादों को “मुख्यमंत्री सशक्त बहन उत्सव योजना” अंतर्गत व्यापक बाजार उपलब्ध कराए जाने हेतु जनपद के सभी विकासखण्डों के सार्वजनिक स्थान पर प्रदर्शनी लगाई जा रही है। जिसमें विकासखंड चंपावत के रोडवेज बस स्टेशन, टनकपुर बाजार एवं बनबसा बाजार मुख्य डाकघर, विकासखंड लोहाघाट के मुख्य बाजार व मुख्य डाकघर तथा विकासखंड बाराकोट के मुख्य बाजार के साथ ही विकासखंड पाटी के विकासखंड गेट के सामने पाटी स्टेशन के सामने प्रदर्शनी लगाई जा रही है।*
वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के दौरान मुख्य विकास अधिकारी राजेन्द्र सिंह रावत, सहायक परियोजना निदेशक विम्मी जोशी व स्वयं सहायता समूह की महिलाएं उपस्थित रहीं।
*इस दौरान जिलाधिकारी नवनीत पांडेय द्वारा जिले की विभिन्न महिला समूहों द्वारा हाथ से निर्मित राखियां को भी खरीदा तथा उनकी सराहना की*

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button