उत्तराखंड

दरोगा को गोली मारने वाला आरोपी पुलिस की गिरफ्त में, पूछताछ में किए कई कुल खुलासे

पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि आरोपी ने हरियाणा में विभिन्न लोगों से 40 से 50 लाख का उधार लिया था

दरोगा को गोली मारने वाले  आरोपी को देहरादून पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने कई खुलासे किए हैं। एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि बीते 13 जनवरी को रायपुर पुलिस को थानो रोड बड़ासी पुल के नीचे एक महिला घायल अवस्था में बेहोशी की हालत में मिली थी। जब महिला को अस्पताल लाया गया तो सीटी स्कैन के बाद एक चौंकाने वाला खुलासा हो गया। महिला के सिर पर गोली लगने की डॉक्टरों ने पुष्टि की। जब पुलिस ने महिला की पहचान के लिए सोशल मीडिया में जानकारी दी तो हरिद्वार निवासी काव्या ने पुलिस को बताया कि पीड़ित उसकी बडी बहन तान्या राजपूत है। जिसने सोनीपत हरियाणा निवासी शुभम से वर्ष 2020 में प्रेम विवाह किया था।

इसके बाद से वह मायके से संपर्क में नहीं थी। तथा शादी के बाद वह मायके वालो से ज्यादा सम्पर्क न रखते हुए सोनीपत हरियाणा में ही रहती थी। पुलिस ने जब पीड़िता के पति के बारे में पड़ताल शुरू की तो उसके ससुर के लापता होने की भी जानकारी मिली। इस बीच पुलिस को पीड़िता के पति की कार बरामद हुई। इसके बाद पुलिस किसी तरह उसके पति शुभम की लोकेशन मसूरी पर पहुंची।

इस बीच शुभम जिस होटल में रूका हुआ था, पुलिस वहां तक पहुंच गई जैसे ही पुलिस शुभम को पकड़ने की कोशिश कर रही थी, शुभम ने अपने पास पहले से रखी देसी पिस्टल से पुलिस टीम पर फायर कर दिया। जिसमें पुलिस टीम में मौजूद दरोगा मिथुन कुमार के पेट में गोली लग गई और आरोपी मौके से फरार हो गया। पुलिस ने पहले दरोगा मिथुन कुमार को अस्पताल में भर्ती कराया और उनका इलाज शुरू हो गया।

इस बीच पुलिस ने मसूरी रोड पर आरोपी को पकडने का प्रयास किया गया, जिसने फिर से पुलिस टीम पर फायर कर दिया। जिसमें 02 बुलेट मौके पर पुलिस के वाहन पर लगी। अपने बचाव मे पुलिस द्वारा किये गये जवाबी फायर में आरोपी के पैर पर गोली लग गई। जिसे पुलिस अस्पताल लेकर आई।

आरोपी से जब पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि आरोपी ने हरियाणा में विभिन्न लोगों से 40 से 50 लाख का उधार लिया था, जो उस पर उधार वापस करने के लिये लगातार दबाव बना रहे थे। जब उसने पिता से पैसे मांगे तो पिता ने भी इनकार कर दिया। जिसके बाद उसने संपत्ति के लालच में सितम्बर 2023 में सोनीपत में उनकी गोली मारकर हत्या कर दी।हत्या के बाद उसके शव को मुज्जफरनगर से हरिद्वार के बीच जंगल मे ठिकाने लगा दिया। उसके बाद अभियुक्त अपनी पत्नी को लेकर वहां से फरार हो गया। जिसके बाद वह पुलिस से बचने के लिए ठिकाने बदलता रहा। इस बीच उसकी पत्नी को पिता की हत्या करने की जानकारी लगी। तो आरोपी ने पत्नी को भी गोली मार कर पुल से नीचे फेंक दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button