देश

चीफ जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा और वरिष्ठ वकील केवी विश्वनाथन सुप्रीम कोर्ट के नए जज होंगे, शपथग्रहण समारोह आज

केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है

19 मई 2023  : आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा और वरिष्ठ वकील केवी विश्वनाथन सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर शपथ लेंगे. शपथग्रहण समारोह आज सुबह 10.30 बजे आयोजित होगा. केवी विश्वनाथन अगस्त 2030 में देश के मुख्य न्यायाधीश बनेंगे और नौ महीने से ज्यादा यानी 24 मई 2031 तक सुप्रीम कोर्ट का नेतृत्व करेंगे. वो बार एसोसिएशन से सीधे CJI बनने वाले चौथे जज होंगे. सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने बार एसोसिएशन के प्रतिष्ठित सदस्यों के नामों पर भी विचार किया है. उनकी राय में सीनियर एडवोकेट केवी विश्वनाथन सुप्रीम कोर्ट के जज के रूप में नियुक्त होने के लिए पूरी तरह उपयुक्त हैं. उनकी नियुक्ति सुप्रीम कोर्ट की संरचना में बार के प्रतिनिधित्व को बढ़ाएगी. वह सुप्रीम कोर्ट बार के प्रतिष्ठित सदस्य हैं. विधि और न्यायशास्त्र में उनका व्यापक अनुभव और गहरा ज्ञान सर्वोच्च न्यायालय के लिए महत्वपूर्ण मूल्यवर्धन करेगा. शीर्ष अदालत ने तमिलनाडु में जन्मे वकील के समृद्ध और विविध अनुभव पर भी प्रकाश डालते हुए अपनी सिफारिश में कहा कि जस्टिस विश्वनाथन संवैधानिक कानून, आपराधिक कानून, वाणिज्यिक कानून, दिवाला कानून और मध्यस्थता सहित विविध विषयों पर कई मामलों में पेश हुए हैं.केंद्र सरकार ने कॉलेजियम की सिफारिश पर 48 घंटे के भीतर मुहर लगा दी और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नियुक्ति के वारंट भी जारी कर दिए. केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है.अब इन दोनों जजों की नियुक्ति से सुप्रीम कोर्ट में न्यायधीशों की संख्या फिर से 34 यानी पूरी क्षमता वाली हो जाएगी, लेकिन जून में दो जजों के रिटायरमेंट से फिर दो पद खाली हो जाएंगे. बता दें कि इससे पहले फरवरी महीने में सुप्रीम कोर्ट में दो जजों की नियुक्ति हुई थी. इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल और गुजरात उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश अरविंद कुमार को सुप्रीम कोर्ट का जज नियुक्त किया गया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button