उत्तराखंड

चार धाम तीर्थ यात्रियों के वाहन कटापत्थर में रोके जाने पर तीर्थ यात्रियों ने दिया धरना, किया विधायक का घेराव

यमुनोत्री धाम में क्षमता से अधिक यात्रियों के पहुंचने पर पुलिस-प्रशासन ने यात्री वाहनों को रोकना शुरू कर दिया है

हरबर्टपुर से चार धाम की यात्रा पर निकले यात्रियों का वाहन कटापत्थर में रोके जाने पर तीर्थयात्री आक्रोशित हो गए। इस दौरान वे कटापत्थर में एआरटीओ चेकपोस्ट के पास धरने पर बैठ गए।इस बीच मौके पर पहुंचे विधायक मुन्ना सिंह चौहान को भी तीर्थयात्रियों के आक्रोश का सामना करना पड़ा।तीर्थयात्रियों ने विधायक का घेराव कर समस्याएं बताई। बामुश्किल विधायक तीर्थयात्रियों के आक्रोश को शांत कर पाए। विधायक ने पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों को आवश्यक सुविधाएं जुटाने व तीर्थयात्रियों की यात्रा सुगम बनाने के निर्देश दिए। इसके बाद तीर्थयात्रा में शामिल बच्चों ने विधायक के साथ सेल्फी भी ली।यमुनोत्री धाम जाने के लिए गुजरात, महाराष्ट्र आदि कई राज्यों के यात्री आ रहे हैं। यमुनोत्री धाम में क्षमता से अधिक यात्रियों के पहुंचने पर पुलिस-प्रशासन ने यात्री वाहनों को रोकना शुरू कर दिया है।

रविवार को पहले हरबर्टपुर में तीर्थयात्रियों के वाहन रोके गए। इसके बाद परिवाहन विभाग की कटापत्थर में बनी अस्थाई चेकपोस्ट पर भी तीर्थयात्रियों के वाहनों को रोका गया। जिससे तीर्थयात्री आक्रोशित हो गए और धरने पर बैठ गए। इस दौरान उन्होंने कहा कि यात्रा रूट पर पानी आदि की कोई व्यवस्था तक नहीं है। उन्हें पांच सौ रुपये का पानी खरीदकर पीना पड़ रहा है।मौके पर एसडीएम विनोद कुमार, सीओ भाष्कर लाल शाह, एआरटीओ प्रवर्तन आरएस कटारिया, चौकी प्रभारी पंकज तिवारी आदि तीर्थयात्रियों को समझाने का प्रयास कर रहे थे। तभी सूचना पर विधायक मुन्ना सिंह चौहान भी मौके पर पहुंचे। इस दौरान तीर्थयात्रियों ने विधायक का घेराव किया और अपनी समस्या बताई। करीब आधे घंटे के बाद तीर्थयात्रियों का आक्रोश शांत हुआ।

वहीं, विधायक मुन्ना सिंह चौहान ने बताया कि जिस स्थान पर तीर्थयात्रियों को रोका गया, वह स्थान सुरक्षित था, क्योंकि दिल्ली-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर जुड्डो के आसपास पहाड़ी से पत्थर गिरने का खतरा रहता है। यमुनोत्री धाम तीर्थयात्रियों से पैक होने के कारण वाहनों को कुछ देर तक रोका गया, ताकि यमुनोत्री धाम में पहुंचकर तीर्थयात्रियों को असुविधा का सामना न करना पड़े। तीर्थयात्रियों को सारी परिस्थितियां समझाकर शांत कराया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button