देश

केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने इंडोनेशिया के स्वास्थ्य मंत्री सादिकिन के साथ गांधीनगर में जन औषधि केंद्र का किया दौरा

सादिकिन ने भारत का जन औषधि केंद्र मॉडल लोगों को दवाओं की गुणवत्ता, पहुंच और सामर्थ्य प्रदान करने के मामले में दुनिया में सबसे अच्छा है

20 अगस्त 2023 :  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया और इंडोनेशियाई समकक्ष गुनाडी सादिकिन ने रविवार को गुजरात के गांधीनगर में जन औषधि केंद्र का दौरा किया। भारतीय स्वास्थ्य सेवा मॉडल की सराहना करते हुए सादिकिन ने अपने देश में उसी ‘भारतीय जन औषधि योजना’ को दोहराने की मांग की।उन्होंने कहा, ‘इंडोनेशिया में मैं लोगों को बेहतरीन गुणवत्ता और कीमत की दवाएं उपलब्ध कराना चाहता हूं। मैंने कई देशों में देखा। मुझे भरोसा है कि भारत के पास सबसे अच्छी (दवाएं) हैं। मैं उनकी (मनसुख मंडाविया) अनुमति से इंडोनेशिया में भारत के मॉडल को दोहराने और बात करने के लिए व्यापारियों और सरकारी अधिकारियों को लाया हूं।’

केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्विटर पर अपनी यात्रा के बारे में जानकारी दी और कहा कि उन्होंने अपने इंडोनेशियाई समकक्ष को भारतीय जन औषधि योजना मॉडल के बारे में समझाया, जिन्होंने भारतीय स्वास्थ्य सेवा योजना में बहुत रुचि दिखाई। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा,’इंडोनेशिया के स्वास्थ्य मंत्री सादिकिन के साथ गांधीनगर में जन औषधि केंद्र का दौरा किया। उन्हें पीएम भारतीय जन औषधि परियोजना मॉडल के बारे में बताया और बताया कि कैसे यह सभी के लिए गुणवत्तापूर्ण और सस्ती दवाएं सुनिश्चित कर रहा है। उन्होंने इस योजना में बहुत रुचि दिखाई।’

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया के नेतृत्व में जी-20 प्रतिनिधियों और मंत्रियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को गांधीनगर में एक ‘जन औषधि केंद्र’ का दौरा किया, जिसमें उन्होंने अपने लोगों को सुलभ, सस्ती और गुणवत्तापूर्ण दवाएं प्रदान करने में भारत की सफलता के बारे में जानकारी को साझा किया।

प्रतिनिधि भारत की अध्यक्षता जी-20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक में भाग लेने के लिए भारत आए थे, जो गुजरात के गांधीनगर में 17-19 अगस्त, 2023 के दौरान आयोजित की गई थी। सादिकिन ने एक जन औषधि केंद्र के दौरे के बाद कहा, ‘मैं इंडोनेशिया में अपने लोगों को बेहतरीन दवाएं देना चाहता हूं। मैंने विभिन्न देशों के कई मॉडल देखे हैं, और भारत का जन औषधि केंद्र मॉडल लोगों को दवाओं की गुणवत्ता, पहुंच और सामर्थ्य प्रदान करने के मामले में दुनिया में सबसे अच्छा है।’ इससे पहले रविवार को मंडाविया ने गांधीनगर में जी-20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक से इतर फार्मास्यूटिकल्स में भारतीय उद्योग जगत के दिग्गजों और जी-20 मंत्रियों और प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा था कि स्वास्थ्य सेवा सिर्फ एक क्षेत्र नहीं है बल्कि यह एक मिशन है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button