उत्तराखंड

काशीपुर के विकास के लिए बीस साल लड़ाई लड़ी, लेकिन अब श्रेय कोई और नेता लेने का प्रयास कर रहे हैं : पूर्व विधायक हरभजन चीमा

पूर्व विधायक हरभजन चीमा ने अपने कार्यकाल में कराए गए विकास कार्यों का ब्यौरा भी दिया

7 अगस्त 2023 काशीपुरः पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा ने अपनी पार्टी के शीर्ष नेताओं पर उनके कामों का श्रेय लेने का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि काशीपुर के विकास के लिए उन्होंने 20 साल की लड़ाई लड़ी और कई विकास कार्य किए. उनके बेटे त्रिलोक चीमा भी लगातार विकास के काम कर रहे हैं, जनता उनके कामों से संतुष्ट हैं, लेकिन कई नेता इसका श्रेय खुद ले रहे हैं. जनता सब जानती है कि किसने काम किया है, ऐसे में उन्हें श्रेय की जरूरत नहीं है. उन्हें काशीपुर के विकास की जरूरत है. इसके अलावा उन्होंने अपने और उनके बेटे के कार्यकाल के दौरान किए गए विकास कार्यों का ब्यौरा भी रखा.

काशीपुर के पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा ने आज अपने रामनगर रोड स्थित कार्यालय पर प्रेस वार्ता की. इस दौरान चीमा ने कहा कि 20 साल से विकास करने में न तो उन्होंने कोई कोर कसर छोड़ी है और न ही वर्तमान विधायक त्रिलोक सिंह चीमा किसी तरह की कोई कसर छोड़ रहे हैं. काशीपुर के विकास के लिए रामनगर रोड से बाजपुर रोड तक द्रोणासागर नहर के ऊपर 28 करोड़ 45 लाख रुपए की लागत से 3.90 किमी लंबी टूलेन बाईपास रोड का निर्माण स्वीकृत हुआ है.

पूर्व विधायक हरभजन चीमा ने अपने कार्यकाल में कराए गए विकास कार्यों का ब्यौरा भी दिया. उन्होंने कहा कि पिछले वित्तीय वर्ष तक उन्होंने 5 करोड़ 10 लाख रुपए की लागत से 37 सड़कों के लिए बजट स्वीकृत करवाकर निर्माण कराया. करीब 3.25 किमी लंबी लक्ष्मीपुर माइनर के लिए 28.45 करोड़ रुपए स्वीकृत कराने के लिए उन्होंने अक्टूबर 2019 में तत्कालीन मुख्यमंत्री को प्रस्ताव भेजा था और व्यक्तिगत रूप से उनसे अनुरोध किया था. जिसके लिए वो 8 से 10 बार देहरादून गए थे. इसके लिए मेयर ऊषा चौधरी ने भी काफी सहयोग दिया.

जेल रोड पर मल्टीस्टोरी पार्किंग के लिए उन्होंने 22 करोड़ 60 लाख रुपए से ज्यादा की राशि का प्रस्ताव सरकार से स्वीकृत कराया. जिससे शहर की पार्किंग व्यवस्था में सुधार होगा. उन्होंने बताया कि काशीपुर के रोडवेज बस अड्डे को बाजपुर रोड स्थित खाली पड़ी सूत मिल की 10 एकड़ जमीन पर स्थानांतरित करने की स्वीकृति मिल चुकी है. जल्द ही रोडवेज बस अड्डा आईएसबीटी के रूप में वहां स्थानांतरित हो जाएगा. उन्होंने कहा कि बारिश की वजह से आरओबी के कार्य में थोड़ा सा विलंब हो रहा है, जो जल्द पूरा हो जाएगा. उसके बाद अंडरपास का कार्य भी शुरू हो जाएगा.  पूर्व विधायकहरभजन चीमा ने अपनी ही पार्टी के नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने शहर के विकास के लिए बीस साल लड़ाई लड़ी और श्रेय कोई और नेता लेने का प्रयास कर रहे हैं. वो ये कहतें कि सारे विकास कार्य उन्होंने कराए हैं, लेकिन एक विधायक होने के नाते उनका और उनके बेटे का जो फर्ज था, उसे पूरा किया. उन्होंने अपनी पार्टी के नेताओं पर बिना नाम लिए ही निशाना साधा.

पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा ने कहा कि बीते 20 सालों से जब तक वो विधायक रहे और अब उनके बेटे त्रिलोक सिंह चीमा मौजूदा विधायक हैं. दोनों ने शहर की सड़कों, बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं को जनता को देने के लिए ही काम किया, लेकिन उन्हें खेद है कि कुछ नेता विकास कार्यों का श्रेय लेने के लिए आगे आ रहे हैं. ऐसे लोगों को समझना चाहिए कि केवल बातें करने से काम नहीं होता, काम वास्तव में करना पड़ता है.

उन्होंने कहा कि जब मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी काशीपुर आए थे तो उन्होंने दो कार्यों के बारे में बताया था. जिस पर सीएम धामी ने स्वीकृति दी है. उन्होंने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री घोषणा में विश्वास नहीं रखते हैं, वे काम में विश्वास रखते हैं. उन्होंने देहरादून जाते ही लक्ष्मीपुर माइनर की स्वीकृति दे दी. उन्होंने कहा कि लक्ष्मीपुर माइनर सड़क निर्माण के स्वीकृति का कोई अपना नाम लेकर श्रेय ले रहा है, जो जनता को गुमराह करना है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button