देश

कांग्रेस के पास सचिन पायलट जितना यंग और एनर्जेटिक चेहरा ओर कोई नहीं है

कांग्रेस ने राजस्थान के बड़े नेता सचिन पायलट को पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और गोवा में स्टार कैंपेनर बनाया है.

कांग्रेस होने वाले 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव को लेकर पूरी तरह चुनावी मोड़ में है. वह राज्यों अपनी पार्टी की सरकार बनाने के लिए पूरी ताकत के साथ चुनावी मैदान में है. इसी के तहत कांग्रेस ने राजस्थान के बड़े नेता सचिन पायलट को पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और गोवा में स्टार कैंपेनर बनाया है. वह न वो सरकार में हैं, न संगठन में. 44 साल के सचिन पायलट को कांग्रेस आखिर इतनी तरजीह क्यों देने लगी. जबकि सचिन पार्टी से एक बार बगावत भी कर चुके हैं. यहां तक की राजस्थान में गहलोत सरकार को गिराने की कोशिश भी की है. चलिए समझते हैं सचिन पायलट को लेकर कांग्रेस की आखिर क्या मजबूरी है. जो इतनी अहमियत दे रही है.

डेढ़ साल पहले जुलाई साल 2020 में सचिन पायलट की ओर से राजस्थान में बगावत करने के बाद यह कहा जा रहा था कि पायलट को पूरी तरह से किनारे कर दिया जाएगा. वहीं, अब जब पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं. तो कांग्रेस ने उनके 4 राज्यों में स्टार कैंपेनर बनाया है. दरअसल, सचिन पायलट को स्टार कैंपेनर बनाने को कांग्रेस आलाकमान के सियासी संदेश के रूप में देखा जा रहा है. इसकी एक बड़ी वजह यह भी है कि सचिन के खेमे के सभी लोगों को राजस्थान सरकार में एडजस्ट कर दिया गया है. सचिन पायलट पूरी ताकत से कांग्रेस के लिए हर राज्य में जाकर वोट भी मांग रहे हैं.

कांग्रेस आलाकमान जिस तरह से सचिन पायलट को आगे बढ़ा रही है. उससे देखकर लगता है कि जल्द उन्हें पार्टी में कोई बड़ा पद मिल सकता है. अब ऐसे में एक बात तो बिलकुल साफ है कि भविष्य में वह राजस्थान में गहलोत की जगह लेने वाले सबसे ताकतवर नेता हैं.

राजस्थान में जून 2021 में कैबिनेट विस्तार कराने को लेकर गहलोत और पायलट खेमा आमने-सामने था. गहलोत अपने हिसाब से कैबिनेट विस्तार कराने की कोशिश में जुटे थे, जबकि पायलट अपने साथियों को सरकार में शामिल कराने में लगे थे. प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने पायलट को एसेट बताया था. उन्होंने कहा था कि पायलट सीनियर लीडर हैं, कांग्रेस के एक तरीके से एसेट हैं, बल्कि मैं तो कहूंगा कांग्रेस के स्टार हैं.पायलट के तौर पर जितना यंग और एनर्जेटिक चेहरा कांग्रेस के पास नहीं है. यही वजह है कि मध्य प्रदेश से एक बार फिर कमलनाथ को ही स्टार प्रचारकों की लिस्ट में जगह दी गई है, जबिक छत्तीसगढ़ से सीएम भूपेश बघेल को जगह दी गई है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button