उत्तराखंड

आपदा प्रभावित व्यापारियों ने सरकार का धन्यवाद ज्ञापित किया

अगस्त्यमुनि में संयुक्त व्यापार संघ के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम में केदारधाटी के व्यापारियों ने विधायक शैलारानी रावत का भव्य स्वागत किया

रूद्रप्रयाग | जून 2013 में केदारघाटी में आयी दैविय आपदा से प्रभावित व्यापारियों को 10 वर्षों बाद शेष राहत राशि के आवंटिल होने पर आपदा प्रभावित व्यापारियों ने सरकार का धन्यवाद ज्ञापित किया। अगस्त्यमुनि में संयुक्त व्यापार संघ के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम में केदारधाटी के व्यापारियों ने विधायक शैलारानी रावत का भव्य स्वागत किया।
संयुक्त व्यापार संघ श्री केदारनाथ के अध्यक्ष प्रेम सिंह सजवाण ने कहा कि आपदा के 10 वर्षों बाद प्रभावित 436 व्यापारियों के शेष 40 प्रतिशत राहत राशि का भुगतान होने जा रहा है, वह केदारनाथ विधायक के अथक प्रयासों से सम्भव हो पाया है। आपदा के बाद तत्कालीन विधायक के रूप में शैलारानी रावत ने व्यापारियों के स्वआंकलन के आधार पर तय मुआवजे राशि में 20 प्रतिशत कटोती के बाद 40 प्रतिशत का भुगतान हुआ था। लेकिन 2017 में काग्रेस विधायक मनोज रावत की उदाशीनता के व्यापारियों की सुनवाई नही हो सकी। 2022 में पुनः शैलारानी रावत के विधायक बनने पर व्यापारियों की समस्या को सरकार ने सुना और तत्काल 1141.34 लाख का भुगतान सरकार द्वारा किया जा चुका है, जो ऊखीमठ तहसील द्वारा व्यापारियों के बैंक खातों में ट्रांसफर किया जा रहा है। इसलिये सभी व्यापारियों द्वारा विधायक के सम्मान में इस धन्यवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।
इस अवसर पर उपस्थित व्यापारियों को सम्बोधित करते हुये केदारनाथ विधायक शैलारानी रावत ने कहा कि व्यापारी देश की ताकत है। केदारनाथ यात्रा में अगर व्यापारी ना हो तो यात्रा संभव नही है। इस बात को तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने समझा और 2014 में तत्काल संयुक्त व्यापार संघ द्वारा तैयार सूचि के अनुसार व्यापारियों को राहत राशि का भुगतान किया गया। आपदा के भावुक पलों को याद करते हुये कहा कि आपदा में केदारधाटी की जनता ने भारी जनधन की हानि के बाद अपने आप को सम्भाला है, तो वहीं सरकार भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केदारनाथ यात्रा को चारों धामों में पहले स्थान पर ले जाने का कार्य लगातार कर रही है। इसी का परिणाम है कि यात्रा इतनी जबरदस्त चल रही है कि सोनप्रयाग में साक्षात लक्ष्मी का निवास हो गया है और स्थानीय व्यापारी सहित शासन प्रशासन को यात्रीयों को सम्भालना मुश्किल हो रहा है। ये सब हमारे लोगों के सेवाभाव के कारण ही सम्भव हो पाया है। उन्होंने कहा कि संयुक्त व्यापार संघ के प्रयासों के कारण ही माननीय मुख्यमंत्री ने शेष राहत राशि अवमुक्त की है। उन्होंने मंच से व्यापारियों को एकजुट होकर केदारनाथ यात्रा को सफल बनाने में अपना अमूल्य सहयोग इसी प्रकार देते रहने का आवाह्न किया।

संयुक्त व्यापार संघ के उपाध्यक्ष देवी प्रसाद गोस्वामी ने जानकारी देते हुए बताया कि 2013 की आपदा के बाद गठित संगठन के पास जिन व्यापारियों ने अपना प्रार्थना पत्र दिया था उन सभी 465 व्यापारियो को 2014 में 40 प्रतिशत राहत स्वीकृत की गयी थी, जिसमें ए व बी श्रेणी के कुल 436 लोगों को प्रथम किस्त का भुगतान किया गया था। उन्हीं लोगों को दूसरी किस्त में 40 प्रतिशत राशि के भुगतान की प्रक्रिया गतिमान है। जिसका सत्यापन हमारे संगठन द्वारा किया जा रहा है। समिति के सचिव शिव प्रसाद वगवाडी, कोषाध्यक्ष राम प्रकाश पुरोहित, महेश बाजपेयी, प्रेम प्रकाश जुगरान, विजय सिंह, कुंवर सिंह राणा, रोशन देवशाली, विजय बगवाडी, शंकर प्रसाद बगवाडी सहित अन्य उपस्थित व्यापारियों ने मुख्यमंत्री पुष्कर धामी, पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ,पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज और विधायक केदारनाथ शैला रानी रावत का धन्यवाद ज्ञापित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button