Uncategorized

अगर हम पूर्व का इतिहास खंगालें, तो पाएंगे कि विपक्ष में बैठे लोगों ने रेलवे को हमेशा मोलभाव के लिए इस्तेमाल किया : सीएम पुष्कर सिंह धामी

धामी ने इन तीन रेलवे स्टेशन को योजना में शामिल करने के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताया

देहरादून 6 अगस्त 2023 : धामी ने देशभर के 508 रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास के लिए प्रधानमंत्री मोदी द्वारा 25 हजार करोड़ रुपये की लागत से शुरू की गई ‘अमृत भारत स्टेशन योजना’ के शिलान्यास कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हिस्सा लेते हुए ये  आरोप लगाया कहां की, “अगर हम पूर्व का इतिहास खंगालें, तो पाएंगे कि विपक्ष में बैठे लोगों ने रेलवे को हमेशा मोलभाव के लिए इस्तेमाल किया। हमने पूर्व में देखा है कि कैसे रेलवे के जरिये सरकार के सहयोगियों को शांत किया जाता था। हम अच्छी तरह से जानते हैं कि रेलवे को राजनीति का अखाड़ा बनाया जाता था।” मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया, “विपक्षी दलों की सरकारों ने देश की ‘लाइफलाइन’ कही जाने वाली रेल व्यवस्था को विकास के रास्ते पर ले जाने के बजाय रामभरोसे छोड़ने का काम किया।” उन्होंने कहा कि आज रेलगाड़ियों में ‘बायो टॉयलेट’ इस्तेमाल हो रहे हैं, लेकिन पूर्व की सरकारों ने कभी इस बारे में नहीं सोचा, क्योंकि उनमें काम करने की इच्छाशक्ति का अभाव था। धामी ने कहा कि लखनऊ में पढ़ाई के दौरान वह रेल यात्रा ही करते थे और उस समय उनका बहुत-सी अव्यवस्थाओं से सामना होता था, लेकिन आज रेलवे बदल रहा है, आधुनिक हो रहा है और उसका नेटवर्क बढ़ रहा है, जिस पर देश को गर्व है। उन्होंने देश की सबसे तेज गति से चलने वाली ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस का भी जिक्र किया और दावा किया कि अब तो दूसरे देशों से भी इस रेलगाड़ी के लिए मांग आ रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले नौ वर्षों में उत्तराखंड में भी ऐसे कई काम हुए हैं, जिन्हें बहुत मुश्किल समझा जाता था। इस संबंध में उन्होंने ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना का जिक्र किया और कहा कि अब तक इसका 41 फीसदी काम पूरा हो चुका है और जल्द ही पहाड़ के लोगों का रेलगाड़ी को देखने और उसमें सफर करने का सपना साकार होगा।

‘अमृत भारत स्टेशन योजना’ के तहत 83.61 करोड़ रुपये की लागत से उत्तराखंड के तीन स्टेशन-देहरादून में हर्रावाला, नैनीताल में लालकुआं जंक्शन और हरिद्वार में रूड़की रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास किया जाएगा। धामी ने इन तीन रेलवे स्टेशन को योजना में शामिल करने के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताया। उन्होंने कहा कि इनका पुनर्विकास स्थानीय संस्कृति, विरासत और वास्तुकाल को ध्यान में रखकर किया जाएगा, जो एक सुखद अनुभव होगा। धामी ने दोहराया कि उत्तराखंड को भारत का श्रेष्ठ राज्य बनाने के लिए उनकी सरकार ‘विकल्प रहित संकल्प’ के साथ तेज गति से काम कर रही है। उन्होंने जनता से इस कार्य में सहभागी बनने का अनुरोध किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button