उत्तराखंड

10 वर्षों में भी नहीं बन पाया रिखणीखाल का पॉलीटेक्निक, 2012 में हुई थी घोषणा

उत्तराखंड तकनीकी शिक्षा विभाग का कहना है कि बजट के मुताबिक कार्यदाई संस्था कार्य कर रही है.

कोटद्वार:  बहुप्रतीक्षित निर्माणाधीन राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज रिखणीखाल की 2012 में घोषणा हुई थी. 10 वर्षों में पॉलीटेक्निक का भवन बन कर तैयार नहीं हो पाया है. करोड़ों की लागत से बन रहे भवन में 10 वर्षों में कक्षा संचालित न होने से रिखणीखाल प्रखंड के विद्यार्थियों को पॉलीटेक्निक की शिक्षा ग्रहण करने के लिए कोटद्वार व दुगड्डा के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं. 2012 में राजकीय पॉलीटेक्निक की घोषणा के बाद 2019 में रिखणीखाल क्षेत्र के बड़खेत मैलाड़ाडा तोक में गांव के भूमिधरों ने 101 नाली भूमि कालेज को निःशुल्क दान की. 2012 में घोषणा के कुछ वर्ष बाद समीप राजकीय इंटर कॉलेज के एक कक्ष में संचालित करने के शासनादेश पर राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज रिखणीखाल में प्राचार्य की नियुक्ति भी हुई. लेकिन सकारात्मक सोच न होने के चलते कॉलेज में एक भी छात्र ने दाखिला नहीं लिया. इस पर प्राचार्य की नियुक्ति भी स्थगित कर दी गई.

उत्तराखंड तकनीकी शिक्षा विभाग का कहना है कि बजट के मुताबिक कार्यदाई संस्था कार्य कर रही है. जल्द ही राजकीय पॉलीटेक्निक रिखणीखाल का भवन बन कर तैयार हो जायेगा. जिसमें सभी ट्रेड भी तैनात किये जायेंगे. बहुप्रतीक्षित निर्माणाधीन राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज रिखणीखाल (बड़खेत) दस साल में भी अधूरा ही बना है.

अब तक इस निर्माण कार्य के लिए निर्माण निगम द्वारा पांच ठेकेदार क्रमशः बुनियाद, ढांचा, छत निर्माण, चहारदीवारी तथा ढुलान हेतु तैनात किये गए लेकिन किसी का भी काम सन्तोषजनक शायद ही रहा हो. इस विषय पर सचिव तकनीकी शिक्षा से दूरभाष पर वार्ता में बताया गया कि शासन से बजट आवंटन के हिसाब से निर्माण कार्य प्रगति पर है, जल्द पूर्ण करेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button