देश

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मंगलवार को ‘बहुत ठंडा दिन’ दर्ज किया गया

दिल्ली, पंजाब, हरियाणा में अलगे 48 घंटे कोहरे का संकट और गहराएगा

दिल्ली का न्यूनतम तापमान देहरादून, धर्मशाला और नैनीताल से भी नीचे पहुंच गया। विभाग के अनुसार, ‘ठंडा दिन’ तब माना जाता है जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे कम रहे और अधिकतम तापमान सामान्य से कम से कम 4.5 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया जाए।    अधिकतम तापमान के सामान्य से 6.5 डिग्री या उससे अधिक कम होने पर उसे ‘बेहद ठंडा दिन’ माना जाता है। दिल्ली में सोमवार को ‘बेहद ठंडा दिन’ था, क्योंकि अधिकतम तापमान कुछ स्थानों पर सामान्य से 10 डिग्री कम दर्ज किया गया था। राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को ‘बहुत ठंडा दिन’ दर्ज किया गयामौसम विभाग ने आने वाले दिनों में दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में में ठंडी हवाएं चलने के साथ न्यूनतम तापमान में और गिरावट होने की संभावना जताई है। IMD के पूर्वानुमान के मुताबिक, वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के असर से पहाड़ों पर बर्फबारी होने के साथ नए साल पर सर्दी का सितम और बढ़ने का अनुमान है। दिल्ली, पंजाब, हरियाणा में अलगे 48 घंटे कोहरे का संकट और गहराएगा। ऊंचाई वाले इलाकों में भारी बर्फबारी के आसार हैं। मैदानी इलाकों में बारिश की भी चेतावनी दी गई है यानी बर्फ, बारिश, कोहरा और शीतलहर एक साथ कहर ढाने के लिए तैयार हैं।दिल्ली के प्राथमिक मौसम केंद्र सफदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 5.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान करीब 16 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। इसकी तुलना में देहरादून में न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस, धर्मशाला में 6.2 डिग्री सेल्सियस और नैनीताल में 7.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों ने दिन के तापमान में इस गिरावट के लिए मैदानी इलाकों से गुजरने वाली उत्तर-पश्चिमी ठंडी हवाओं और कोहरे के मौसम के कारण कम धूप निकलने को जिम्मेदार ठहराया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button