उत्तराखंड

योजनाओं से पात्रों को लाभान्वित किए जाने हेतु ऑनलाइन व्यवस्था बनाए – जिलाधिकारी

जिलाधिकारी द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर में जिला योजना/राज्य योजना/केन्द्र पोषित/वाह्य सहायतित योजनाओं में विभागों द्वारा की गई प्रगति की समीक्षा की गई।

देहरादून | जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका की अध्यक्षता में आज ऋषिपर्णा सभागार कलेक्ट्रेट परिसर में जिला योजना/राज्य योजना/केन्द्र पोषित/वाह्य सहायतित योजनाओं में विभागों द्वारा की गई प्रगति की समीक्षा की गई। जिला योजना में अवमुक्त धनराशि के सापेक्ष 64.15 प्रतिशत, राज्य सेक्टर में 66.50 प्रतिशत, केन्द्र पोषित योजनाओं में 87.83 प्रतिशत तथा वाह्य सहायतित योजनाओं में 60.17 प्रतिशत धनराशि का व्यय किया गया तथा सभी मदों में अवमुक्त धनराशि के सापेक्ष 75.08 प्रतिशत धनराशि का व्यय किया गया। जिलाधिकारी ने कम प्रगति वाले विभागों तथा बैठक में प्रतिभाग न करने वाले अधिकारियों से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिए। साथ ही विभागों के कार्यों की जांच भी कराने के निर्देश दिए। बीस सूत्रीय कार्यक्रम के तहत् डी एवं बी श्रेणी में आने वाले विभाग पर नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने विभागों प्रगति की समीक्षा करते हुए संचालित योजनाओं की जानकारी भी प्राप्त की तथा अधिकारियों को योजनाओं में प्रगति बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्हांने जिला अर्थ एवं सख्याधिकारी को निर्देश दिए कि योजनाओं से पात्रों को लाभान्वित किए जाने हेतु ऑनलाइन व्यवस्था बनाए ताकि जनमानस योजनाओं हेतु ऑनलाइन ही विभागों को आवेदन कर पाएं। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि जो बैंक शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन में सहयोग नहीं कर रहे है उनके विरूद्ध कार्यवाही हेतु नोटिस प्रेषित किया जाए। साथ ही जिन विभागों द्वारा 70 प्रतिशत से अधिक प्रगति दर्शायी गई है उनके कार्यों की रैंडम जांच करने के निर्देश जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी को दिए। साथ ही मुख्य विकास अधिकारी को प्रत्येक सप्ताह समीक्षा बैठक करने तथा जिलाधिकारी की अध्यक्षता में 15 दिन में समीक्षा बैठक आहूत करवाने के निर्देश अर्थ एवं सख्ंयाधिकारी को दिए।
इसके उपरान्त बैठक में मुख्य विकास अधिकारी सुश्री झरना कमठान ने सम्बन्धित अधिकारियों को टीबी योगियों के उपचार एवं पोषण हेतु निक्षय मित्र योजना से जुड़ने तथा विभाग के कार्मिकों के साथ ही उनके यहां जुड़ी हुए संस्थाओं को इससे जोड़ने का अनुरोध किया।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी सुश्री झरना कमठान, परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण आर.सी तिवारी, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी एस.के गिरी, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ0 विद्याधर कापड़ी, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 के.एस गुंजियाल, जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेश मिश्रा, अधि0अभि0 लोनिवि डीसी नौटियाल, मुख्य कृषि अधिकारी लतिका सिंह, सहायक निदेशक सूचना बी.सी नेगी, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र अंजली रावत, जिला खेल अधिकारी संभाली गुरूंग, सहायक अर्थ एवं संख्याधिकारी पी.एस. भण्डारी, जिला सेवायोजन अधिकारी अजय सिंह सहित संबंधित विभागों के अधिकारी कार्मिक उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button