देश

महाराष्ट्र के कई मंदिरों में मास्क पहनना हुआ अनिवार्य

चीन में कोरोना संक्रमित तेजी से बढ़ रहे हैं और वहां का संक्रमण भारत में भी पाया गया है

नववर्ष और क्रिसमस की लगातार छुट्टियां होने के कारण महाराष्ट्र के कई प्रमुख मंदिरों में श्रद्धालुओं के भीड़ उमड़ने की संभावना को देखते हुए वहां आने वाले श्रद्धालुओं के लिए मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।

शिरडी के साईंबाबा संस्थान को विदेशों में कोविड के बढ़ते प्रकोप के बारे में सतर्क कर दिया गया है। दर्शन के लिए आने वाले साईं भक्तों को मास्क लगाने, सामाजिक दूरी का पालन करने और सैनिटाइत्रर का उपयोग करने का आग्रह किया गया है जबकि कोल्हापुर के अंबाबाई मंदिर में, कर्मचारियों के लिए मास्क लगाना अनिवार्य करने का निर्णय लिया गया है। हालांकि, भक्तों के लिए अब तक मास्क लगाना अनिवार्य नहीं किया गया है। चीन में कोरोना संक्रमित तेजी से बढ़ रहे हैं और वहां का संक्रमण भारत में भी पाया गया है और अब तक देश में इसके चार मरीज मिल चुके हैं। कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए मंदिरों में सतर्कता बरती जा रही है और धीरे-धीरे कोरोना के नियमों का पालन करने के लिए कहा जा सकता है।

इस बीच, केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्देश जारी करने के बाद राज्य का स्वास्थ्य विभाग पहले से ही सतर्क है। राज्य  के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उप-मुख्यमंत्री देवेंद, फडणवीस और स्वास्थ्य मंत्री तानाजी सावंत ने गुरुवार रात राज्य में कोविड की स्थिति की समीक्षा की और स्वास्थ्य विभाग को इस संदर्भ में निर्देश जारी किये।

इस बीच, पंढरपुर में भगवान विठ्ठल मंदिर में कल तक मास्क लगाने के संदर्भ में निर्णय लिए जाने की संभावना है। मुंबई के मुंबादेवी मंदिर के कर्मचारियों को मास्क लगाने का निर्देश दिया गया है। इसके अलावा, भक्तों से भी मास्क पहनने का आग्रह किया जा रहा है। नववर्ष के अवसर पर मुंबई और राज्य के अन्य मंदिरों में भी भीड़ होने की संभावना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button